जिंदगी से परेशान होकर खोज निकाला एक आईडिया, आज है लाखों ग्राहक और करती हैं करोड़ों का व्यापार

हम में से ऐसे कई लोग होते हैं जो आइडिया लेकर उद्योग के मैदान में उतरते हैं। परंतु सफलता तो सिर्फ उन लोगों के हाथ लगती है जो अपने आईडीए पर कायम रहते हैं। ऐसा ही एक उदाहरण पेश करा है इस महिला ने जिसने शून्य से शुरुआत कर एक सफल उद्योग की स्थापना करी। महिलाओं के लिए यह बिल्कुल भी आसान नहीं होता कि वह कम समय के भीतर एक बड़ा उद्योग खड़ा कर सकें जिसमें ग्राहक समय-समय पर आते रहे। आजकल एक नया दौर आ चुका है जहां पर महिलाएं बच्चों को जन्म देती हैं उनका पालन पोषण करते हैं और साथ ही एक सफल उद्योग की शुरुआत करती हैं और इसी के बीच में कुछ ऐसा तालमेल बिठाती हैं की ,ना ही उनके बच्चों की परवरिश में दखल होता है और ना ही उनके उद्योग में।

आज की हमारी कहानी में जो महिला है उनका नाम है पल्लवी उटागी। पल्लवी उटागी की कंपनी का टर्नओवर करोड़ों में जाता है और इनकी कंपनी का नाम है सुपरबॉटम्स आपको बता दें कि पल्लवी ने मुंबई से एमबीए की डिग्री हासिल करी है और उन्होंने अपने करियर की शुरुआत एक ब्रांड मैनेजर के रूप में की थी उन्होंने आई कैन आईपिल एवं आई सिक्योर जैसे कई बड़े ब्रांड्स के साथ जुड़कर काम किया और एक ब्रांड मैनेजर के रूप में ख्याति प्राप्त करने के बाद आगे बढ़ती रही। परंतु समय एक जैसा नहीं होता और जिंदगी में अनेकों उतार-चढ़ाव आते हैं ऐसे में उनकी जिंदगी में भी एक महत्वपूर्ण दौर आया जहां पर वह विवाह सूत्र में बंध गई।

उनका विवाह हो गया और उसके बाद वह मातृत्व जिम्मेदारियों में उलझ गईं परंतु साथ ही उन्होंने अपने जीवन की प्रतिभा को दुनिया के आगे लाने का संकल्प नहीं त्यागा और उन्होंने फिर से अपनी जिंदगी को नई दिशा देने के लिए एक और मौका दिया। जैसे ही उन्होंने अपने बच्चे को जन्म दिया वैसे ही उन्हें ख्याल आया कि इस बच्चे की त्वचा के लिए बाजार में अच्छा डाइपर उपलब्ध नहीं है। जिसे भारतीय भाषा में लंगोट कहा जाता है। वह एक ऐसा डायपर चाहती थी जिसको बार-बार बदलने की जरूरत ना हो इसलिए पल्लवी ने काफी लोगों से परामर्श लिया परंतु उन्हें कोई ढंग का प्रोडक्ट ना मिल सका और उन्होंने खुद ही शोध करके एक सामग्री बना ली जो खास तकनीक से बनी थी और इसमें क्षमता थी कि यह ज्यादा से ज्यादा पानी रोक सके यह डायपर डिस्पोजेबल डायपर है साथ ही ज्यादा से ज्यादा पानी को रोक सकता है और एक लंगोट की तरह काफी आरामदायक भी होता है।

शुरुआत से ही उनके ब्रांड को काफी प्रसिद्धि मिली परंतु पल्लवी के मातृत्व की महत्वपूर्ण जरूरत एवं जिम्मेदारियों को देखते हुए उद्योगों को सफल बनाए रखना आसान नहीं था। उन्होंने अपने शुरुआती दिनों में बैंक मैनेजर के रूप में कार्य किया था जिसका अनुभव उन्हें बेहद ही काम आया। साथ ही उन्होंने अपनी फ्रेंड के लिए स्मार्ट मार्केटिंग मॉडल तैयार किया साथ ही उन्होंने व्हाट्सएप और फेसबुक पर भी लोगों के समूह को जोड़ा। उनका लोगों से सार्थक तरीके से वार्तालाप करने का तरीका उनके ब्रांड को दिन पर दिन आगे लेकर चला गया उनके सभी प्रयास फलदाई होने लगे और लोगों की तरफ से बेशुमार तारीफ मिलने लगी।

वह कहती हैं कि एक बार मुझे एक माता-पिता ने चुनौती दी कि उनके जुड़वा बच्चों के लिए या डायपर पूरी रात नहीं चलेगा परंतु जब वह सुबह वापस आए तो हमारे प्रोडक्ट की तारीफ करते नजर। पल्लवी ने बताया कि उनका ब्रांड हर साल 5 गुना की रफ्तार से बढ़ रहा है और साल 2023 खत्म होते तक 100 करोड़ का टर्नओवर छू लेंगे, जिंदगी में अपने अनुभव को बेहतर तरीके से आगे ले जाना एवं उसका उचित उपयोग करना अपने आप में एक चुनौती होती है। परंतु पल्लवी ने उसको बखूबी निभाया है और आज वह मॉम्प्रेन्योर बनने के लिए और महिलाओं को प्रेरित कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *