मेट्रो के वापस स्वचालन से दिल्लीवासिओं को मिली राहत, हुई भीड़ दोगुनी इसलिए रहें सावधान

दिल्ली की जान कहीं जाने वाले दिल्ली मेट्रो बीते 2 महीने से निर्धारित समय पर पटरी पर चल रही है। ऐसे में लॉकडाउन के दौरान काफी मशक्कत के बाद डीएमआरसी को यह परमिशन मिली की वह वापस से दिल्ली मेट्रो को स्वचालित तरीके से चलाए। ऐसे में आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि मेट्रो के खुलते ही करीब 1 महीने के भीतर छह लाख लोग मेट्रो से सफर करने लग गए थे और 1 महीने बीतते ही अक्टूबर के अंत तक 12.25 लाख लोग अब मेट्रो से आने-जाने लगे हैं।

लॉकडाउन के दौरान पूरे 4 महीने तक दिल्ली मेट्रो स्थगित रही थी परंतु 7 सितंबर के बाद से मेट्रो का वापस परिचालन शुरू कर दिया गया था। ऐसे में लॉकडाउन के बीच कुछ तस्वीरें वायरल हो रही थी कि जल्द ही मेट्रो चलाई जाएगी परंतु कोविड-19 के हालातों को देखते हुए ऐसा संभव नहीं हो पाया और दिल्ली सरकार को अपने फैसलों को बदलना पड़ा जिसके साथ मेट्रो चलने में देरी हुई।

मेट्रो चलने से आने जाने वाले यात्रियों का फायदा हुआ है परंतु नुकसान भी बराबर हो रहा है क्योंकि जैसे ही मेट्रो चली वैसे ही लोगों की तादाद बढ़ गई और तादाद के बढ़ते ही लोग कोविड-19 के प्रोटोकॉल्स का उल्लंघन करते नजर आए जिस कारण डीएमआरसी ने खूब चालान काटे ऐसे में मेट्रो के अंदर सामाजिक दूरी बना कर रखना और मास्क लगाकर रखना बेहद ही ज्यादा महत्वपूर्ण है। दिल्ली के पर्यावरण विभाग ने भी सूचना जारी है जिसमें कहा है की आने वाले समय में दिल्ली की हवा खराब रहने वाली है और पॉल्यूशन के कण हवा की नमी में घुल के बैठ जायेंगे जिससे सांस लेने में ख़ासा तकलीफ होगी। इस वक्त बस मास्क और सामाजिक दूरी है जरूरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *